News Update !

#रंगोत्सवहोली हार्दिक शुभकामनाएं

खर्राटा आना होता है कई बार खतरनाक कैसे दूर की जा सकती है यह बीमारी चेम्बर ऑफ कॉमर्स के मुखपत्र अर्थवार्ता के फरवरी 2018 माह के अंक में प्रकाशित राजवैध ग्वालियर की धरोहर डॉ वेणीमाधव शास्त्री जी द्वारा बताए गए सुझाव हेल्थ टिप्स के रूप में

म प्र चैंबर ऑफ कॉमर्स एण्ड इंडस्ट्री, ग्वालियर के यशस्वी अध्यक्ष आदरणीय श्री Arvind Agarwal जी को FEDERATION BHOPAL द्वारा ग्वालियर संभाग के उपाध्यक्ष एवं SMART CITY ADVISARY FORUM , GWALIOR में सदस्य मनोनीत होने पर हार्दिक शुभकामनाएं

सेमिनार डायवर्सन टेक्स प्रशासन दे रहा है डायवर्सन टेक्स वसूली के नोटिस शहर भर में वसूली की कर रहा कार्यवाही जिला प्रशासन डायवर्सन नोटिस और वसूली कितनी वैधानिक? किस पर लगेगा डायवर्सन? आदि विषयों पर चर्चा रहेंगे विशेष रूप से उपस्तिथ माननीय श्री आर.डी. जैन जी (पूर्व महाधिवक्ता मप्र शासन) माननीय श्री के.एन. गुप्ता जी (वरिष्ठ अभिभाषक) माननीय श्री नवल गुप्ता जी (वरिष्ठ अभिभाषक) माननीय श्री प्रशांत शर्मा जी (अभिभाषक) करेंगे विस्तार से चर्चा मिलगे आपके सवालों के जबाब आज 24 फरवरी 2018 शनिवार सायँ 4.30 बजे श्रीमन्त माधवराव सिंधिया सभागार चेम्बर भवन कृपया अवश्य पधारें निवेदक मप्र चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इंडस्ट्री

#चेम्बरकासकारात्मकप्रयास चेम्बर के प्रयासों से श्री अच्छेलाल गुप्ता को मिली उनके यूको बैंक खाते से निकली राशि 11जुलाई 2017 को चैक क्लोनिंग करके निकाले गये थे 8,77,964 रूपये यूको बैंक शाखा छत्री बाजार, लश्कर, ग्वालियर के खाताधारक श्री अच्छेलाल गुप्ता के खाते से चैक क्लोनिंग करके निकाली गई राशि रूपये 8,77,964- चेम्बर के प्रयासों से उन्हें वापिस मिल गई है दिनांक 04.09.2017 को श्री अच्छेलाल जी गुप्ता ने चेम्बर में आवेदन देकर अपने साथ हुई धोखाधड़ी की शिकायत की थी इस प्रकरण को चेम्बर ने पूरी संजीदगी से लेते हुए महाप्रबंधक यूको बैंक-उपभोक्ता सेवा, शिकायत एवं कैश मैनेजमेंट, हैड ऑफिस कोलकाता, बैंकिंग लोकपाल, क्षेत्रीय महाप्रबंधक-रिजर्व बैंक ऑफ इण्डिया, केन्द्रीय वित्त मंत्री-श्री अरूण जेटली, सीबीआई निदेशक-नई दिल्ली, पुलिस महानिदेशक-मध्यप्रदेश पुलिस, पुलिस अधीक्षक-ग्वालियर को पत्राचार प्रारंभ किया गया एवं समय-समय पर प्राप्त भारतीय रिजर्व बैंक, बैंकिंग लोकपाल, यूको बैंक प्रधान कार्यालय कोलकाता से प्राप्त पत्रों के आधार पर अनवरत पत्राचार जारी रखा जिसके परिणामस्वरूप श्री अच्छेलाल जी गुप्ता को उनके खाते से चैक क्लोंनिग करके आहरित की गई राशि वापिस मिलने का मार्ग प्रशस्त हो सका चेम्बर द्बारा आज सायंकाल यूको बैंक प्रबंधन एवं श्री अच्छेलाल जी गुप्ता को चेम्बर भवन में आमंत्रित कर, राशि वापिस मिलने की औपचारिकताएं पूर्ण कराई गईं| औपचारिकताएं पूर्ण करने के कुछ समय बाद ही श्री अच्छेलाल गुप्ता के खाते में बैंक प्रबंधन द्बारा 8,77,964- रूपये की राशि वापिस जमा कर दी गई| श्री अच्छेलाल जी गुप्ता ने चेम्बर द्बारा की गई कार्यवाही पर प्रशंसा व्यक्त करते हुए कहा कि मैं चेम्बर का सदस्य नहीं हूं परंतु चेम्बर अध्यक्ष-श्री अरविन्द अग्रवाल के गणतंत्र दिवस के अवसर पर दिये गये उद्बोधन जिसमें उन्होंने घोषणा की थी कि समस्त व्यापारियों के लिए चेम्बर के द्बार हमेशा खुले रहेंगे, चाहे वह चेम्बर के सदस्य हों अथवा नहीं| उनकी घोषणा मेरे प्रकरण में पूर्ण रूप से परिलक्षित होती है| मुझे अपनी राशि वापिस मिलने में जो सहयोग चेम्बर का प्राप्त हुआ है, उसके लिए मैं चेम्बर का सहृदय हार्दिक आभार व्यक्त करता हूं और आशा करता हूं कि चेम्बर इसी भांति हम व्यापारियों को सहयोग करता रहेगा

गतिमान एक्सप्रेस का संचालन ग्वालियर से किए जाने पर चेम्बर ऑफ कॉमर्स ने केन्द्रीय रेलमंत्री-श्री पीयूष जी गोयल एवं केन्द्रीय मंत्री-श्री नरेन्द्र सिंह जी तोमर के प्रति किया आभार व्यक्त जयपुर-आगरा फोर्ट शताब्दी एक्सप्रेस एवं आगरा-अहमदाबाद एक्सप्रेस को ग्वालियर तक बढ़ाए जाने की केन्द्रीय मंत्रीगणों से पुनः की माँग

*दीनारपुर अनाज मण्डी की घटना के दोषी अपराधियों को तत्काल गिरफ्तार किया जाए एवं मण्डी में पुलिस चौकी पर स्थाई सुरक्षा बल तैनात किया जाए ः चेम्बर ऑफ कॉमर्स* अपराधियों की अविलंब गिरफ्तारी की जाएगी एवं मण्डी में निरन्तर गश्त होगी ः एस. पी. चेम्बर के नेतृत्व में गल्ला व्यवसाईयों ने आज पुलिस अधीक्षक को सौंपा ज्ञापन ग्वालियर की सबसे बड़ी गल्ला मण्डी दीनारपुर मुरार में शनिवार, 17 फरवरी को गल्ला व्यवसाई के साथ हुई मारपीट की घटना के दोषी अपराधियों की तत्काल गिरफ्तारी एवं मण्डी में व्यवसाईयों की पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था की माँग करते हुए आज चेम्बर के नेतृत्व में दीनारपुर गल्ला मण्डी के व्यवसाईयों द्वारा एस. पी. ग्वालियर-डॉ. आशीष जी से भेंट कर, उन्हें ज्ञापन सौंपा गया । इस अवसर पर चेम्बर पदाधिकारियो ने पुलिस अधीक्षक से कहा कि दीनारपुर मण्डी के गल्ला व्यवसाईयों के अंदर इस कदर भय व्याप्त हो गया है कि उन्होंने जब तक पूर्ण सुरक्षा नहीं मिल जाती है, वह अपना व्यवसाय बंद रखने के लिए मजबूर हैं क्योंकि दीनारपुर मण्डी के गल्ला व्यवसाईयों ने हमें अवगत कराया है कि वह बहुत ही भयाक्रांत हैं और व्यापार नहीं कर पा रहे हैं । गत् दिवस व्यापार मण्डल के महामंत्री पर जानलेवा हमला किया गया, जो कि हार्ट के भी रोगी हैं । व्यवसाईयों ने बताया कि सभी व्यवसाई भयाक्रांत हैं और व्यापार करने की हिम्मत नहीं कर पा रहे हैं । इसलिए उन्होंने यह तय किया है कि जब तक उक्त मण्डी में पुख्ता एवं स्थाई सुरक्षा के इंतजाम पुलिस चौकी पर नहीं किए जाते हैं, वह अपना व्यापार नहीं कर सकेंगे । इसलिए यह आवश्यक है कि वहाँ स्थापित पुलिस चौकी पर स्थाई रूप से पुलिस बल पदस्थ किया जाए । पदाधिकारियो ने व्यपारियो की सुरक्षा की माँग करते हुए, पुलिस अधीक्षक से कहा कि गल्ला व्यवसाई जो कि प्रति वर्ष लगभग रु. 2.50 करोड़ का मण्डी शुल्क देते हैं । बावजूद इसके वह सुरक्षा सुविधाओं से महरूम है । अतएव दीनारपुर मण्डी के व्यवसाईयों को पुख्ता सुरक्षा उपलब्ध कराई जाए । साथ ही, शनिवार की घटना के दोषी अपराधियों की तत्काल गिरफ्तारी सुनिश्‍चित की जाए, जिससे कि दीनारपुर मण्डी के गल्ला व्यवसाई बगैर किसी भय के अपना व्यवसाय कर सकें । साथ ही, पदाधिकारियों द्वारा निम्नानुसार एक ज्ञापन पुलिस अधीक्षक महोदय को प्रस्तुत किया, जिसके बिन्दु निम्नानुसार हैं ः- 1. घटना के दोषी, कल्लू तोमर एवं उसके साथ जो 15-20 लोग थे, उनकी तत्काल गिरफ्तारी की जाए । 2. दीनारपुर गल्ला मण्डी में स्थित पुलिस चौकी पर पुलिस बल पदस्थ किया जाए । 3. डायल 100 सुबह 10.30 बजे से लेकर रात्रि 8.00 बजे तक सिमको तिराहे पर खड़ी हो और वह लगातार इस अवधि में मण्डी में गश्त करें । 4. मण्डी में लगातार चोरी की घटनाएँ भी होती है, जो इन्हीं लोगों द्वारा किए जाने की संभावना है, उसका भी पता लगाया जाए । 5. व्यवसाईयों को आत्मरक्षार्थ हथियार के लाइसेंस दिए जाएँ । * जिला प्रशासन एवं म. प्र. शासन से माँग है कि ः- 1. अपराधियों को संरक्षण देने वाले सदस्यों को मण्डी सदस्य के पद से हटाया जाए । 2. दाने वाले बाबा की रोड जो कि मण्डी की बाउण्ड्री से मिलती है, उस सड़क से मण्डी का आवागमन सुनिश्‍चित किया जाए । 3. दीनारपुर मण्डी की बाउण्ड्रीबाल अपूर्ण है अथवा असामाजिक तत्वों द्वारा तोड़ दी गई है, जिससे आए दिन चोरी की घटनाएँ होती हैं, उसे शीघ्र बनवाया जाए । 4. दीनारपुर मण्डी को ग्वालियर की मुख्य मण्डी घोषित किया जाए । पुलिस अधीक्षक-डॉ. आशीष जी ने प्रतिनिधि मण्डल से चर्चा करते हुए आश्‍वासन दिया कि घटना का मुख्य आरोपी सहित उनके साथ मौजूद सभी अपराधियों की तत्काल गिरफ्तारी की जाएगी । साथ ही, दीनारपुर गल्ला मण्डी में निरन्तर गश्त का इंतजाम किया जाएगा । गल्ला व्यवसाईयों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाएगा । एस. पी., डॉ. आशीष जी से चर्चा के उपरान्त गल्ला व्यवसाईयों द्वारा एसपी ऑफिस के हॉल में ही बैठक कर, निर्णय लिया गया कि जब तक सुरक्षा का स्थाई हल नहीं हो जाता है, वह अपना व्यवसाय करने में असमर्थ है और वह अपना कारोबार बंद रखेंगे । ज्ञापन व चर्चा करने वालों में चेम्बर के उपाध्यक्ष-श्री सुरेश बंसल, मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल, मानसेवी संयुक्त सचिव-श्री जगदीश मित्तल एवं कोषाध्यक्ष-श्री गोकुल बंसल ग्वालियर कृषि उपज मण्डी कमेटी के सदस्य- श्री अजय सिंह, श्री व्यापार मण्डल, मुरार के अध्यक्ष-रूपेश गोयल, संयुक्त अध्यक्ष-योगेश अग्रवाल, स्वागताध्यक्ष-बबलू उपाध्याय, महामंत्री-अवधेश दीक्षित, कोषाध्यक्ष-रिन्कू जैन, उपाध्यक्ष-हेम जैन,उपस्तिथ थे

चेम्बर ने प्रमुख सचिव, ऊर्जा विभाग-श्री आईसीपी केसरी एवं वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक-डॉ. संजय गोयल को विद्युत संबंधी समस्याओं पर सौंपा ज्ञापन हर माह के दूसरे शुक्रवार को चेम्बर में लगेगा विद्युत समस्या निवारण शिविर महाप्रबंधक एवं उनके अधीनस्थ अधिकारियों को शिविर में उपस्थित रहने के निर्देश आज मप्र चेम्बर ऑफ कॉमर्स के पदाधिकारियो ने प्रमुख सचिव, ऊर्जा विभाग मध्यप्रदेश शासन-श्री आईसीपी केसरी व म.प्र. मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक डॉ. संजय गोयल के ग्वालियर प्रवास पर पधारने पर भेंट की एवं विद्युत संबंधी समस्याओं पर एक ज्ञापन सौंपा| चेम्बर की मांग पर अधिकारीद्बय द्बारा निर्देश दिये गये कि विद्युत संबंधी समस्याओं के निराकरण के लिए हर माह के दूसरे शुक्रवार को चेम्बर भवन में विद्युत समस्या निवारण शिविर लगाया जाये और इस शिविर में विद्युत वितरण कं. के महाप्रबंधक अपनी अधीनस्थ अधिकारियों के साथ शिरकत करें और समस्याओं का तत्काल निराकरण किया जाये| चेम्बर ने ज्ञापन में मांग की कि ए.टी.पी मशीन पर उपभोक्ता के साथ की गई ९००० रूपये की धोखाधड़ी की उच्च स्तरीय जांच कराई जाए राजस्व लक्ष्य पूर्ति हेतु उपभोक्ताओं पर की जाने वाली अनावश्यक एवं अवैधानिक बिलिंग को रोका जाए एवं बिलिंग करने वाले अधिकारियों पर कार्यवाही की जाए घरेलू, गैर घरेलू व औद्योगिक उपभोक्ताओं के लिए एकमुश्त निपटान योजना लागू की जाए ग्वालियर रीजन में सिंगल एवं थ्री फेस मीटर उपलब्ध कराए जाएं मीटर खराब होने पर एलटीएमटी लैब में मीटर चैक कराने की प्रक्रिया में लगने वाले समय को कम किया जाए उपभोक्ता को टेस्ट रिपोर्ट दी जाए चेम्बर पदाधिकारियों द्बारा सौंपे गये ज्ञापन के बिन्दुओं को अधिकारीद्बय द्बारा बड़ी गंभीरतापूर्वक सुना गया अधिकारीद्बय ने एटीपी मशीन पर उपभोक्ता के साथ हुई धोखाधड़ी पर उच्च स्तरीय जांच कराई जायेगी और जो भी दोषी होगा, उसे बख्शा नहीं जायेगा| राजस्व लक्ष्य पूर्ति हेतु प्रस्तुत किये गये प्रकरणों के संबंध में कहा कि यदि किसी उपभोक्ता पर अनावश्यक एवं अवैधानिक बिलिंग की गई है तो बिलिंग करने वाले अधिकारी के विरूद्घ कठोर कार्यवाही की जायेगी| घरेलू, गैर घरेलू व औद्योगिक उपभोक्ताओं के लिए एकमुश्त निपटान योजना पर विचार किया जायेगा| ग्वालियर रीजन में सिंगल एवं थ्री फेस मीटर आगामी एक माह में पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध करा दिए जायेंगे| मीटर खराब होने पर उपभोक्ता के मीटर की जांच एलटीएमटी लैब के स्थान पर उपभोक्ता के परिसर में ही कराए जाने की व्यवस्था की जायेगी

प्रदेश के वित्तमंत्री, श्री जयंत मलैया को “प्रदेश के आगामी बजट” पर चेम्बर ऑफ कॉमर्स द्वारा प्रेषित किया गया बजट पूर्व ज्ञापन ग्वालियर, 17 फरवरी । प्रदेश की विधानसभा में वित्त एवं वाणिज्यिक कर मंत्री, माननीय श्री जयंत मलैया जी द्वारा प्रस्तुत किए जाने वाले आगामी बजट 2018-19 में विभिन्न माँगों को शामिल किए जाने हेतु प्रति वर्ष की भांति इस बार भी चेम्बर ऑफ कॉमर्स द्वारा बजट पूर्व एक विस्तृत ज्ञापन प्रस्तुत कियागया चेम्बर द्वारा आज प्रस्तुत किए गए, बजट पूर्व ज्ञापन के बिन्दु निम्नानुसार हैं ः- * जीएसटी को ध्यान में रखते हुए, मण्डी शुल्क को समाप्त किया जाए * प्रदेश के बाहर से प्रसंस्करण हेतु मंगाए जाने वाले दलहन पर मण्डी शुल्क में छूट दी जाए * शहरी क्षेत्र में रजिस्ट्री पर बढ़ाए गए 1% शुल्क को वापिस लिया जाए साथ ही, रजिस्ट्री शुल्क को भी कम किया जाए । * पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी के अन्तर्गत लाया जाए * स्टॉम्प ड्रूटी की दर कम की जाए साथ ही, लोन मोरगेज पर लगने वाली स्टॉम्प ड्यूटी को भी कम किया जाए । * सेल्स टेक्स और वैट में जमा एफडीआर की वापसी हेतु प्रावधान किया जाए : * ग्वालियर शहर की सड़कों के डामरीकरण हेतु बजट में धनराशि का विशेष प्रावधान किया जाए :

अन्यत्र प्रदेशों को दी जाने वाली विद्युत दर की भांति ही सस्ती दर पर प्रदेशवासियों को विद्युत उपलब्ध कराई जाए : चेम्बर वर्ष २०१८-१९ के लिए विद्युत वितरण कंपनियों द्बारा प्रस्तुत की गई टैरिफ पिटीशन पर चेम्बर ने भेजे सुझाव एवं आपत्तिया म.प्र के तीनों विद्युत वितरण कंपनियों द्बारा म.प्र. विद्युत नियामक आयोग के समक्ष आगामी वर्ष के लिए संयुक्त रूप से टैरिफ पिटीशन प्रस्तुत की गई है जिस पर नियामक आयोग द्बारा प्रदेश के विद्युत उपभोक्ताओं से सुझाव/आपत्तियां मांगी गई हैं| इसी संदर्भ में आज म.प्र. चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इण्डस्ट्री द्बारा अपने सुझाव/आपत्तियां म.प्र. विद्युत नियामक आयोग को प्रेषित किये गये हैं|चेम्बर ने अपनी आपत्तियों में लिखा कि वर्तमान परिप्रेक्ष्य में मध्यप्रदेश बिजली की उपलब्धता में मांग से ज्यादा आपूर्ति की अवस्था में है और इस कारण वह म.प्र. से अन्यत्र प्रदेशों को भी विद्युत का विक्रय कर रहा है| म.प्र. से जो अन्यत्र प्रदेशों में विद्युत का विक्रय किया जा रहा है, वह मध्यप्रदेश में विक्रय की जाने वाली दरों से काफी कम दर पर किया जा रहा है| चेम्बर ने मांग की है कि अन्यत्र प्रदेश को विद्युत बेचने की तुलना में अपने ही प्रदेश के वासियों को इसका लाभ दिया जाना चाहिए और इसके लिए आवश्यक है कि जो भी टैरिफ निर्धारित किया जाये वह इस आधार पर निर्धारित किया जाये कि अगर उपयोग ज्यादा है तो दरें भी कम की जायें| जिस तरह से मोबाइल सेगमेंट में ज्यादा उपयोग करने पर दरें कम हो जाती हैं| चेम्बर ने टैरिफ पिटीशन पर भेजे सुझाव एवं आपत्तियों में निम्नलिखित बिन्दुओं को समाहित किया गया है:- * विद्युत बिल का सरलीकरण किया जाए ताकि एक सामान्य से सामान्य उपभोक्ता भी अपने बिल को समझ सके| * धर्मार्थ, नॉन प्रोफिटेबल संस्थायें/संगठन आदि के कार्यालय के लिए रियायती दर का टैरिफ बनाया जाए| * गोदाम के लिए विद्युत के उपयोग में न्यूनतम बिलिंग का प्रावधान समाप्त किया जाए| * अस्थायी कनेक्शन में स्वयं के निर्माण के लिए विद्युत का उपयोग करने पर न्यूनतम चार्ज एवं प्रति किलोवाट फिक्स चार्ज की दरें कम की जाना चाहिए| * घरेलू छोड़कर सभी तरह के उपभोक्ताओं के यहां यदि संयोजित भार, स्वीकृत भार से अधिक हो तो जुर्माने का प्रावधान है, जबकि कई बार अज्ञानता के कारण उपभोक्ता भार वृद्घि नहीं करा पाता है और बिजली कंपनी को भी इससे आर्थिक हानि भी नहीं होती है और ऐसी अवस्था में की गई बिलिंग को, उपभोक्ता की अज्ञानता का लाभ प्राप्त करने वाली बिलिंग कहा जाता है| अत:१० किलोवाट से कम अथवा १० किलोवाट तक संयोजित भार मिलने वाले उपभोक्ताओं को इस प्रावधान से अलग किया जाना चाहिए| * औद्योगिक उपभोक्ताओं को जो अनिवार्य मांग आधारित टैरिफ ही लागू किया गया है और जिन उपभोक्ताओं की संविदा मांग २५ एचपी तक रहती है, उन उपभोक्ताओं से निर्धारित टैरिफ से ३०% कम करके राशि वसूली जाती है| कई बार सतर्कता दल या अन्य एजेन्सी द्बारा चैक करने पर या अधिकतम मांग २५ एचपी से अधिक होने पर, उपभोक्ता पर ऑटोमेटिक पैनल बिलिंग होती है, इसके बावजूद भी अगर सतर्कता दल या अन्य एजेन्सी द्बारा किसी कनेक्शन को चैक किया जाता है तब ऐसी अवस्था में उसके ऊपर पूरे वर्ष भर की दर के अंतर की बिलिंग के साथ पैनल बिलिंग की जाती है जबकि टैरिफ में इस प्रकार का कोई निर्देश नहीं दिया गया है| अत: यह स्पष्ट किया जाए कि जब तक उपभोक्ता के परिसर का वास्तविक संयोजित भार २५ एचपी के ऊपर नहीं हो जाये तब तक उस पर वर्ष भर की बिलिंग नहीं की जा सकती| * मध्यप्रदेश देश व विदेश के कोने-कोने में जाकर प्रदेश के अंदर नया निवेश/उद्योग लाने के लिए लगातार प्रयत्नशील है और अपने प्रदेश की खूबियों को, प्रदेश में बिजली उपलब्धता का और प्रदेश में प्रचलित विद्युत दरों को अन्य प्रदेशों से कम होने की बात का बखान भी करती है और सभी सुविधाओं के बखान के बाद वह देश एवं विदेश के निवेश/उद्योग को आमंत्रित करती है| प्रदेश सरकार के इस प्रयास के बाद यदि कोई उद्योग प्रदेश की ओर आकर्षित होता है तो वह सबसे पहले यहां पूर्व से स्थापित उद्योगों से फीडबैक लेता है| जब यह फीडबैक अगर सकारात्मक न हो तो आने वाला निवेश/उद्योग रूक जाता है और सरकार के प्रयास विफल हो जाते हैं| वर्तमान परिप्रेक्ष्य में सरकार ने इस दिशा में बहुत अधिक प्रयास किये लेकिन वह प्रयास सफल नहीं हो सके जिसका प्रमुख कारण विद्युत दरें व टैरिफ स्ट्रक्चर (वसूलने का ढांचा) ही है अत: इसमें संशोधन किया जाना चाहिए|

#शोकश्रद्धांजलिसभा कृपया पधारे ओर श्रद्धासुमन अर्पित करे मप्र चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इन्डस्ट्री के कार्यकारिणी सदस्य श्री अनिल जी गुप्ता के आसमायिक निधन पर शोक श्रद्धांजलि सभा दिनांक 9 फरवरी 2018 शुक्रवार समय दोपहर 3 बजे चेम्बर भवन (डी पी मंडेलिया सभागार)

Contact us.

Please provide All the Mandatory Details !!
Successfully Saved Your Response !!
 

Phone .

+91-7512382917
+91-7512632916
+91-7512371691

Address .

Madhya Pradesh Chamber of Commerce & Industries , Chamber Bhawan , SDM Road, Gwalior (MP)

E-mail .

info@mpcci.com
pro@mpcci.com